Kidney,Cancer Patient Vomiting treatment in hindi

Ad 1

Kidney,Cancer Patient Vomiting treatment in hindi,morpankh images

किडनी के इलाज के लिए संपर्क करें डॉ. आर .के .कुशवाह 7987706533

Kidney,Cancer Patient Vomiting treatment in hindi

नमस्कार दोस्तों कैसे हैं आप आशा है अच्छे होंगे Kidney,Cancer Patient Vomiting treatment in hindi दोस्तो हमारी वेबसाइट और youtube channel पर हम केवल खुद अनुभव किये हुए ही नुस्खे शेयर करते है जो की आपके लिए फायदेमंद होते है दोस्तों हम आपके लिए बहुत अच्छे –अच्छे नुस्खे लाते रहेंगे अगर हमारे नुस्खे आप इस्तेमाल करते हैं|Cholera treatment in hindi,vomiting treatment in hindi,diarrhea treatment in hindi.

आपको 100% फायदा होगा इसलिए दोस्तों हम आपसे एक निवेदन करना चाहते हैं की अगर हमारी पोस्ट आपके काम आ रही है तो कृपया शेयर जरुर करें ताकि ये नुस्खे अन्य सभी पीड़ित लोगों तक पहुंचे केवल अपने तक सीमित ना रखें जिससे सभी लोग इसका फायदा उठा सकें यही तो हमारा लक्ष्य है जिससे हमारा होसला और बड़े और आपके लिए ऐसी ही पोस्ट लाते रहें|

चलिए दोस्तों शुरू करते हैं आज की हम आपके लिए लेकर आये हैं एक ऐसा नुस्खा जो आपको हैजा(Cholera),उल्टी(Vomiting),दस्त(Diarrhea) होने पर बस एक ही खुराक लेने से 1 minute के अन्दर ही आराम मिल जाएगा जी हाँ आपको ये जानकर हैरानी हो रही होगी की क्या ऐसा कोई नुस्खा हो सकता है की ऐसा कोई नुस्खा भी हो सकता है जो 1 minute मैं हैजा जैसी खतरनाक बीमारी को रोक सकता है जी हाँ दोस्तों ये सचमुच कुदरत का करिश्मा ही है एक और आश्चर्यजनक बात ये है की इस नुस्खे को सिर्फ एक बार ही प्रयोग करना है एक बार लेने से ही हैजा,उल्टी ,दस्त छू मंतर हो जायेगा|

हैजा की पहचान या लक्ष्ण

  • इस रोग में प्यास ज्यादा लगती है, पल्स मंद पड़ जाती है, यूरिन कम आता है व बेहोशी होने लगती है।
  • इस रोग में जबरदस्त उलटियां व दस्त होते हैं। कई बार उल्टी भी होती है और जी मिचलाता है,उल्टी में पानी बहुत अधिक आता है, यह उलटी सफेद रंग की होती है। जैसी मरीज कुछ खाता या पीता है तुरंत उल्टी में निकल जाता है।
  • यह रोग बैक्टीरिया के शरीर मैं प्रवेश करने से फैलता है और शरीर में प्रवेश कर अपनी संख्या बढ़ाते रहते हैं और जब पर्याप्त संख्या में हो जाते हैं तो वहां विष पैदा करते हैं, यह विष रक्त द्वारा शरीर के अन्य भागों में जाता है और रोग बढ़ता है।
  • इस रोग मैं उलटी के साथ ही पतले दस्त लग जाते हैं और ये होते ही रहते हैं, शरीर का सारा पानी इन दस्तों में निकल जाता है। इस बीमारी में बुखार नहीं आता, बस रोगी निढाल, थका-थका सा कमजोर व शक्तिहीन हो जाता है।
  • हैजा होने पर रोगी के हाथ-पैर ठंडे पड़ जाते हैं।
  • हैजे की शुरुआत होने पर रोगी की सांस टूटने लगती है
  • रोगी की नाडी तेज चलने लगती है और कमजोर रहती है.
  • हैजा में ज्यादा बुखार नहीं होता, जैसा कि दूसरे इन्फेक्शन में होता है ।
  • हैजा में रोगी की हृदय गति बढ़ जाती है।

 

हैजा के कारण

Vibrio cholerae नामक बैक्टेरिया से फैलने वाले रोग इस रोग में खुला खाना या पानी नहीं पीना चाहिए। यह समस्या खास तौर पर गंदगी के कारण फैलती है। इसलिए अपने आसपास वाली जगह को साफ सुथरा रखें। जानें क्या है हैजा के कारण

  • म्यूनसिपल सप्लाई का पानी पीने से
  • म्यूनसिपल पानी से बना बर्फ का प्रयोग करने से
  • डावा या रेस्टोरंट में मिलने वाला खुला खाना खाने से
  • मानव मल तथा नाली के गंदे पानी से उगाई गई सब्जियां खाने से
  • कच्चा व अधपका मांसाहारी भोजन खाने से

तेजी से फायदा पहुचाने वाला नुस्खा

  1. शहद और मोर पंख की भष्म
  2. शहद और नारियल की जटा की भष्म
  3. मोर पंख का जो चाँद वाला भाग होता है उसे जलाकर उसकी भष्म बना लीजिये 1 ग्राम के आसपास भष्म लीजिये 1 ग्राम से ज्यादा नहीं लेना है और 2 चम्मच शहद मैं मिलाकर चाट लीजिये तुरंत फायदा होगा?

शहद और नारियल की जटा की भष्म

नारियल की जटा अर्थात नारियल के बाल को जला लीजिये और 2 ग्राम भष्म को 2 चम्मच शहद मैं मिलकर चाट लीजिये?

 हैजा मैं अधिक उल्टी दस्त होने के कारण शरीर मैं पानी की कमी तेजी से बढती है इसके लिए आप मरीज को शहद और इलाइची दीजिये तुरंत पानी की कमी दूर हो जाएगी शहद और इलाइची के लिए हमारी ये पोस्ट पड़ें

इन दोनों मैं से केवल एक ही प्रयोग करें शहद और मोर पंख या शहद और नारियल की जटा की भष्म?

अगर आपको कोई भी सबाल या संशय है तो हमें कॉल करें हमारा contact नंबर है 9713391319,7987706533

1,656 total views, 1 views today

Comments 1

  • I have checked your site and i have found some duplicate content, that’s why you don’t rank high in google,
    but there is a tool that can help you to create 100% unique
    content, search for: Boorfe’s tips unlimited content

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *