Gharelu nuskhe for diabetes,diabetic diet.

नमस्कार दोस्तों आज का टॉपिक है Gharelu nuskhe for diabetes,diabetic diet,symptoms of sugar in hindi आज के समय मैं शुगर की बीमारी हर 5 मैसे 3 लोगों को है इसमें pre diabetes और diabetes दोनों शामिल है डयबिटीज को अगर समय रहते कण्ट्रोल न किया जाता तो बहुत सारी परेशानियों का कारण बन जाता है |जिससे मरीज की जान भी जा सकती है |मधुमेह के कारण हाई ब्लड प्रेशर ,थाइरॉयड ,हार्ट डिसीसेस,किडनी फेलियर और अल्झाइमर जैसी बीमारियों हो सकती है |सारे विश्व में मधुमेह से काफी लोग पीड़ित है |मधुमेह दो कारण से होता है| हमारे शरीर में इन्सुलिन नहीं बन रहा या फिर आपके शरीर में इन्सुलिन तो बन रहा है मगर आपके सेल इस इन्सुलिन पर प्रतिकिर्या नहीं कर रहे है|Gharelu nuskhe for diabetes,diabetic diet.

Gharelu nuskhe for diabetes,diabetic diet. ,diabetes chart

 

शुगर को जड़ से खत्म करने के उपाय -Sugar ka ramban ilaj

शुगर की दवा बनाने की सामग्री -Gharelu nuskhe for diabetes,diabetic diet.

मैंथी दाना 500 ग्राम

कलोंजी 100 ग्राम

गोंद कतीरा 50 ग्राम

जामुन की गुठली 200 ग्राम

शुगर की दवा बनाने की विधि -sugar ka ayurvedic upchar in hindi

इन चारों चीजों को पीस लीजिये और बारीक चूर्ण बना लीजिये और सभी मिला लीजिये आपकी दवा तैयार है|

दवा प्रयोग करने का तरीका -sugar khatam karne ka tarika

1/2 चम्मच रात को सोने से पहले गुनगुने पानी से लीजिये और 1/2 चम्मच सुबह खाने के बाद लीजिये|

शुगर मधुमेह के रोगी का परहेज-diabetic diet

शुगर के रोगी परहेज जरूर करें मधुमेह के रोगी ऐसी चीजें खाने से बचें जिन मैं शुगर होता है जैसे -शक्कर ,शक्कर से बने पदार्थ जैसे-मिठाइयाँ आदि|Gharelu nuskhe for diabetes,diabetic diet.

डाइट चार्ट -diabetic diet,food for diabetics,diabetic diet plan

  1. diabetics को अपने आहार में कुल कैलोरी का 45 प्रतिशत कार्बोहाइड्रेटयुक्त पदार्थों से, 45 प्रतिशत वसायुक्‍त पदार्थों से व 22 प्रतिशत प्रोटीनयुक्त पदार्थों से लेना चाहिए। यदि शुगर मरीज का वजन ज्‍यादा है तो उसे कुल कैलोरी का 58 प्रतिशत कार्बोहाइड्रेट से, 18% फैट से व 22 % प्रोटीन से लेना चाहिए।diabetic diet
  2. शुगर के मरीज को प्रोटीन अच्छी मात्रा में व उच्च गुणवत्ता वाला लेना चाहिए। इसके लिए दूध, दही, पनीर, अंडा, मछली, सोयाबीन आदि का सेवन ज्‍यादा करना चाहिए। इंसुलिन ले रहे डायबिटिक व्यक्ति एवं गोलियां ले रहे डायबिटिक व्यक्ति को खाना सही समय पर लेना चाहिए। ऐसा न करने पर हायपोग्लाइसीमिया हो सकता है। इसके कारण कमजोरी, अत्यधिक भूख लगना, पसीना आना, नजर से धुंधला या डबल दिखना, हृदयगति तेज होना, झटके आना एवं गंभीर स्थिति होने पर कोमा भी हो सकता है।Gharelu nuskhe for diabetes,diabetic diet.
  3. diabetics व्यक्ति को हमेशा अपने साथ कोई मीठी चीज जैसे ग्लूकोज, शक्‍कर, चॉकलेट, मीठे बिस्किट रखना चाहिए। यदि हायपोग्‍लाइसीमिया के लक्षण दिखें तो तुरंत इनका सेवन करना चाहिए। एक सामान्य डायबिटिक व्यक्ति को ध्यान रखना चाहिए कि वे थोड़ी-थोड़ी देर में कुछ खाते रहें। दो या ढाई घंटे में कुछ खाएं। एक समय पर बहुत सारा खाना न खाएं।
  4. शुगर के मरीज हमेशा डबल टोन्ड दूध का प्रयोग करें। सफेद नमक का इस्तेमाल बिल्कुल बंद कर दीजिये इसके स्थान पर सेंधा नमक का प्रयोग करें कम कैलोरीयुक्त खाद्य पदार्थों का सेवन करें जैसे – छिलके वाला भुना चना, परमल, अंकुरित अनाज, सूप, सलाद आदि का ज्यादा सेवन करें। दही और छाछ का सेवन करने से ग्‍लूकोज का स्‍तर कम होता है और डायबिटीज नियंत्रण में रहता है।
  5. मैथीदाना (दरदरा पिसा हुआ) एक या आधा चम्मच खाना खाने के 15-20 मिनट पहले लेने से शुगर कंट्रोल में रहती है व फायदा होता है। रोटी के आटे को बिना चोकर निकाले प्रयोग में लाएं व इसकी गुणवत्ता बढ़ाने के लिए इसमें सोयाबीन मिला सकते हैं।Gharelu nuskhe for diabetes,diabetic diet.
  6. घी व तेल का सेवन दिनभर में 2 चम्‍मच से ज्यादा न करें। सभी सब्जियों को कम से कम तेल का प्रयोग करके नॉनस्टिक कुकवेयर में पकाना चाहिए।ज्यादातर सरसों का तेल ही प्रयोग करें रिफायंड आयल से हमेशा दूर रहे| हरी पत्तेदार सब्जियों का ज्‍यादा सेवन करें।
  7. मधुमेह रोगी को खाने से लगभग 1 घंटा पहले तेज गति से पैदल चलना चाहिए और साथ ही व्‍यायाम और योगा भी करें। सही समय पर इंसुलिन व दवाइयां लेते रहें। नियमित रूप से चिकित्‍सक के पास जाकर चेकअप भी कराइए।

65 total views, 2 views today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *