Bawaseer ka ilaj|Piles ka ilaj|Bawasir का गारन्टी से इलाज

Ad 1

Bawaseer ka ilaj|Piles ka ilaj|Bawasir का गारन्टी से इलाज

नमस्कार दोस्तों आज का टॉपिक है Bawaseer ka ilaj|Piles ka ilaj|Bawasir का गारन्टी से इलाज बवासीर के लक्षण के बारे मैं बताएँगे आज के समय मैं बवासीर Piles बहुत ही गंभीर समस्या है ये समस्या आज हर किसी हो रही है चाहे महिला हो या पुरुष दोनों ही बहुत ज्यादा मात्रा मैं पीड़ित हैं| बवासीर एक ऐसी बीमारी है जिसका अगर रोग की शुरुआत मैं ही इसका इलाज नहीं कराया तो ये भगंदर का रूप ले सकता है|

बवासीर के प्रकार तथा बबासीर Piles के लक्षण

बवासीर या पाइल्स  एक ख़तरनाक बीमारी है। बवासीर 2 प्रकार की होती है। आम भाषा में इसको ख़ूँनी और बादी बवासीर के नाम से जाना जाता है।Bawaseer ka ilaj|Piles ka ilaj|Bawasir का गारन्टी से इलाज

1- खूनी बवासीर :- खूनी बवासीर में किसी प्रकार की तकलीफ नही होती है केवल खून आता है। पहले पखाने में लगके, फिर टपक के, फिर पिचकारी की तरह से सिफॅ खून आने लगता है। इसके अन्दर मस्सा होता है। जो कि अन्दर की तरफ होता है फिर बाद में बाहर आने लगता है। टट्टी के बाद अपने से अन्दर चला जाता है। पुराना होने पर बाहर आने पर हाथ से दबाने पर ही अन्दर जाता है। आखिरी स्टेज में हाथ से दबाने पर भी अन्दर नही जाता है।

2-बादी बवासीर :- बादी बवासीर रहने पर पेट खराब रहता है। कब्ज बना रहता है। गैस बनती है। बवासीर की वजह से पेट बराबर खराब रहता है। न कि पेट गड़बड़ की वजह से बवासीर होती है। इसमें जलन, दर्द, खुजली, शरीर मै बेचैनी, काम में मन न लगना इत्यादि। टट्टी कड़ी होने पर इसमें खून भी आ सकता है। इसमें मस्सा अन्दर होता है। मस्सा अन्दर होने की वजह से पखाने का रास्ता छोटा पड़ता है और चुनन फट जाती है और वहाँ घाव हो जाता है उसे डाक्टर अपनी जवान में फिशर भी कहते हें। जिससे असहाय जलन और पीडा होती है। बवासीर बहुत पुराना होने पर भगन्दर हो जाता है। जिसे अंग़जी में फिस्टुला कहते हें। फिस्टुला प्रकार का होता है। भगन्दर में पखाने के रास्ते के बगल से एक छेद हो जाता है जो पखाने की नली में चला जाता है। और फोड़े की शक्ल में फटता, बहता और सूखता रहता है। कुछ दिन बाद इसी रास्ते से पखाना भी आने लगता है। बवासीर, भगन्दर की आखिरी स्टेज होने पर यह केंसर का रूप ले लेता है। जिसको रिक्टम केंसर कहते हें। जो कि जानलेवा साबित होता है।

बवासीर का इलाज /Piles ka ilaj/Bawaseer ka ilaj|Piles ka ilaj|Bawasir का गारन्टी से इलाज

  1. खड़ा  नमक 100 ग्राम ,हल्दी पाउडर 20 ग्राम  अजवाइन 10 ग्राम  सबसे पहले नमक को पीस लीजिये उसके बाद इसे तबे या कड़ाई मैं डालकर भून लीजिये  इसको तब तक भूनना है जब तक इसका रंग हल्का सांवला ना हो जाये इसके बाद इस मैं हल्दी पाउडर तथा अजवाइन को डाल दीजिये  अजवाइन को बारीक पीसकर डालना  है  इस   तरह आपका नुस्खा  बनकर तैयार है |

नुस्खा प्रयोग करने का तरीका

10 ग्राम खाली पेट सुबह तथा दोपहर लेना है सुबह से दोपहर तक कुछ नहीं खाना है खाना आपको सीधा शाम को खाना है पूरा दिन खाली पेट रहना है|

अगर आपको किसी भी दवा से कोई फायदा नहीं हो रहा है तो हमें संपर्क करें हम आपको बिना दवा के कैसे ठीक करना है इसके बारे मैं बताएँगे डॉ. आर.के.कुशवाह 7987706533

184 total views, 4 views today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *